sulabh swatchh bharat

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019

tough-work-made-by-tireless-work

अनुदीप दुरिशेट्टी - अथक मेहनत ने बनाया टॉपर

49 सप्ताह पहले
यूपीएससी की ओर से घोषित किए गए सिविल सर्विस फाइनल रिजल्ट 2017 में टॉप करने वाले 28 वर्षीय अनुदीप दुरिशेट्टी ने अपने आखिरी प्रयास में यह रैंक हासिल किया है। तेलंगाना के जगितल जिले में स्थित मेटपल्ली के रहने वाले अनुदीप के पिता डॉ. मनोहर नार्थ पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड, तेलंगाना में सहायक मंडल अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। वहीं उनकी मां डॉ. ज्योति गृहणी हैं। अनुदीप डुरीशेट्टी ने बिट्स-पिलानी से इलेक्टॉनिक्स एंड इंस्ट्रुमेंटशन में ग्रेजुएशन किया है। वर्तमान में वह भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) में असिस्टेंट कमिश्नर पद पर तैनात हैं। अनुदीप का फेसबुक प्रोफाइल देखने से पता चलता है कि वे स्विस टेनिस स्टार रोजर फेडरर के बहुत बड़े ...
bhakti-of-village-development

भक्ति शर्मा - ग्राम विकास की ‘भक्ति’

50 सप्ताह पहले
अमेरिका के टेक्सास शहर में अच्छी नौकरी छोड़ लौटी एक युवती ने ग्राम प्रधान बनकर अपने गांव की तस्वीर बदल दी है। दरअसल, हम बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से 20 किलोमीटर दूर बरखेड़ी अब्दुल्ला ग्राम पंचायत की सरपंच भक्ति शर्मा की। भक्ति का नाम देश की 100 लोकप्रिय महिलाओं में शामिल है। भक्ति की उम्र महज 28 वर्ष है। वह फर्राटेदार अंग्रेजी तो बोलती ही है, साथ ही निडर होकर अधिकारियों से भी मिलती-जुलती है। उसकी कोशिश रहती है कि हर सरकारी योजना का लाभ उनके पंचायत के लोगों को मिले।  भक्ति ने राजनीति शास्त्र से एमए किया है और अभी वह वकालत की पढ़ाई कर रही हैं। भक्ति के कई शौक पुरुषों जैसे हैं। उसे ट्रैक्टर चलाना, पिस्टल रखना, अपनी गाड़ी से सड़कों पर फर्राटे भरना, किसी भी अधिकारी ...
daughter-of-cleanliness

स्वच्छता की बेटी - रिनु

51 सप्ताह पहले
स्वच्छता को लेकर चल रहे देशव्यापी अभियान में बच्चे किसी से पीछे नहीं हैं। कुछ बच्चे तो इस अभियान को इस तरह आगे बढ़ा रहे हैं कि सुनकर आश्चर्य और रोमांच दोनों होता है। ऐसी ही एक बच्ची है मध्य प्रदेश के अलीराजपुर की रिनु। वह सात वर्ष की है, पर जिस उत्साह के साथ वह अपने इलाके में स्वच्छता अभियान को आगे बढ़ा रही है, वह काबिले तारीफ है। कुछ अरसे पहले सबसे पहले वह तब चर्चा में आई जब मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने ट्वीट किया कि आलीराजपुर जिले की सात वर्षीय रिनु ने स्वच्छता के लिए जो काम किया, वह सभी के लिए प्रेरणादायी है।  रिनु ने इलाके के गैरूघाटी के लगभग सभी परिवारों को न केवल शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित किया, बल्कि स्वच...
state-5-players-98

राज्य 5, खिलाड़ी 98

52 सप्ताह पहले
देश की आबादी में भले ही हरियाणा, पंजाब, केरल, झारखंड और मणिपुर राज्यों का सिर्फ 9 फीसदी का योगदान हो, लेकिन गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भेजे गए भारतीय दल में इनकी हिस्सेदारी 45 फीसदी है। इन गेम्स में भारत से 217 खिलाड़ी शामिल हो रहे हैं, जिनमें इन पांच राज्यों से ही सिर्फ 98 खिलाड़ी हैं। यही नहीं, जिस मणिपुर की आबादी महज 30 लाख है, वहां से कॉमनवेल्थ गेम्स में नौ खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। यानी हर तीन लाख की आबादी में से एक खिलाड़ी अपने सूबे का प्रतिनिधित्व कर रहा है। हरियाणा, पंजाब, केरल, झारखंड और मणिपुर की आबादी करीब 12.11 करोड़ है, जबकि देश की आबादी 1.3 अरब के आसपास है। हरियाणा में 7.5 लाख, पंजाब में 10 लाख, केरल में 17.5 ...
turtles-on-versova-beach

अफरोज शाह - वर्सोवा बीच पर कछुए

54 सप्ताह पहले
मुंबई के वर्सोवा बीच में दो दशक के बाद ऑलिव रिडले कछुओं के लगभग 80 बच्चे नजर आए। हाल में कछुओं के ये बच्चे समुद्र के किनारे घूमते दिखे। पर्यवरणविदों ने बीच पर ऑलिव रिडले कछुओं की बीच पर आमद पर खुशी जाहिर की है। समाज सेवक अफरोज शाह और उनकी टीम को इस बात का श्रेय दिया जा रहा है, जिन्होंने वर्सोवा बीच को साफ करने के लिए 127 हफ्तों की कड़ी मेहनत की। अफरोज ने कहा कि यह बहुत ही खुशी की बात है कि हमारे वर्सोवा बीच में ऑलिव रिडले कछुओं के 80 अंडों से बच्चे निकले हैं। उन्होंने कहा कि यह समुद्री किनारा बहुत गंदा हुआ करता था। हर तरफ सिर्फ प्लास्टिक का ढेर जमा हो गया था। कछुओं ने यहां अंडे देना बंद कर दिया था, लेकिन वर्सोवा बीच पर चले सफाई ...
tireless-journey-of-the-ideal-teacher

रजनीकांत मेंढे - आदर्श शिक्षक की अथक यात्रा

54 सप्ताह पहले
आपने स्कूलों में शिक्षकों को पढ़ाते हुए देखा होगा, लेकिन क्या सिर्फ एक बच्चे को पढ़ाने के लिए किसी शिक्षक को रोजाना स्कूल आते हुए देखा है? शायद आपका जवाब होगा नहीं, ऐसा कैसे हो सकता है। मगर महाराष्ट्र में 29 साल के एक सरकारी शिक्षक रोजाना इस काम को करते हैं। नागपुर के रहने वाले इस शिक्षक का नाम रजनीकांत मेंढे है। वह पुणे से 100 किलेमीटर से ज्यादा दूर स्थित भोर के गांव चंदर में 8 साल के बच्चे युवराज सिंह को पढ़ाने के लिए जाते हैं। गांव तक पहुंचने के लिए उन्हें रोजाना पर्वत को पार करते हुए 12 किलोमीटर मिट्टी से भरे हुए रास्ते से होकर गुजरना पड़ता है। रजनीकांत जिस चंदर गांव में पढ़ाने के लिए जाते हैं, वहां 15 झोपड़ियां हैं, ...
womens-advancement-foundation

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन - महिला तरक्की का ‘फाउंडेशन’

55 सप्ताह पहले
बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने भारत समेत 4 देशों में महिला सशक्तिकरण को आगे बढ़ाने के लिए 1100 करोड़ रुपए (170 मिलियन अमेरिकी डॉलर) निवेश करने की घोषणा की है। फाउंडेशन की को-चेयरपर्सन मेलिंडा गेट्स ने यह घोषणा करते हुए बताया कि भारत के अलावा केन्या, तंजानिया और युगांडा को भी इसमें शामिल किया गया है। मेलिंडा ने ये एलान अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस  के एक दिन पहले किया है। इस निवेश में महिला को सशक्त बनाने के लिए लैंगिक समानता, डिजिटल वित्तीय समावेशीकरण, महिलाओं के लिए रोजगार और उन्हें कृषि क्षेत्र में मदद करने जैसी बातों को वरीयता दी गई है। मेलिंडा गेट्स के मुताबिक, ‘महिलाएं आर्थिक रूप से अपने और अपने परिवार का जीवन बेहतर...
architecture-nobel

बालकृष्ण दोशी - वास्तुकला का ‘नोबेल’

55 सप्ताह पहले
भारतीय वास्तुविद बालकृष्ण दोशी को आर्किटेक्चर के प्रित्जकर प्राइज से सम्मानित किया जाएगा। आर्किटेक्चर के नोबेल के नाम से ख्यात इस पुरस्कार के विजेता की हाल ही में की गई है। दोशी को प्रित्जकर प्राइज से सम्मानित किए जाने की घोषणा के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर बधाई दी है। 90 वर्षीय दोशी उन जीवित लोगों में से एक हैं, जिन्होंने ली कार्बूजियर के साथ काम किया है। दोशी ने टिकाऊ वास्तुकला और सस्ते आवास के निर्माण द्वारा अपने काम को प्रतिष्ठित किया और आधुनिकतावादी डिजाइन को भारत लेकर आए, जिसमें परंपरा से प्रेरणा का सुंदर समावेश है। 45वें प्रित्जकर विजेता दोशी इस पुरस्कार को पाने वाले पहले भारतीय हैं। पुरस्कार लेने के ...
11-year-old-anthomologist

यथार्थ एम - 11 वर्ष का एंथेमोलॉजिस्ट

56 सप्ताह पहले
बेंगलुरु के 11 साल के छात्र ने अपनी प्रतिभा और एक अनोखे शौक के बल पर प्रतिष्ठित लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराया है। कम उम्र में यह मुकाम हासिल करने वाले यथार्थ एम. बेंगलुरु के एक स्थानीय स्कूल में 6वीं कक्षा के छात्र हैं। यथार्थ की उपलब्धि यह है कि वह अब तक में 215 देशों के राष्ट्रगान को याद कर चुका है। बड़ी बात यह कि इन सभी देशों में करीब 100 देश ऐसे हैं, जिनके राष्ट्रगान अंग्रेजी से इतर अन्य राष्ट्रीय भाषाओं में हैं। यथार्थ की मां शिल्पा ने बताया कि उनके बेटे ने अपने स्कूल की म्यूजिक टीचर से कुछ साल पहले देशों के राष्ट्रगान की धुन सिखाने का अनुरोध किया था। इस पर यथार्थ की म्यूजिक टीचर ने उन्हें जा...
flight-of-nayan

रोहित डे - ‘नयन’ की उड़ान

56 सप्ताह पहले
अगर मन में दृढ़ विश्वास हो और हौसले बुलंद हों तो मंजिल चाहे कितनी ही कठिन क्यों न हों, वो आसानी से मिल ही जाती है। ऐसे ही बुलंद हौसले की बदौलत बेंगलुरु के क्राइस्ट यूनिवर्सिटी के बी.ए फर्स्ट ईयर के छात्र रोहित डे ने एक कारनामा कर दिखाया है, जो विदेशों में पढ़ने वाले छात्र भी बिना ट्रेनिंग के करने की सोच भी नहीं सकते हैं। रोहित डे ने एक ऐसा ड्रोन बनाया है, जो लोगों के घरों तक अखबार डिलीवर करेगा। रोहित ने इस ड्रोन को ‘नयन’ नाम दिया है। इसका वजन 2.6 किलोग्राम है और लगभग 30 मिनट तक इससे काम लिया जा सकता है। रोहित ने पिछले कई वर्षों में कई ड्रोन बनाए हैं। उनके बनाए ड्रोनों का इस्तेमाल सर्विलांस, एरियल फोटोग्राफी और...
even-in-old-age

जॉर्ज कोरोनेस - बुढापे में भी जवां दमखम

57 सप्ताह पहले
जिस उम्र में लोग ठीक से चल नहीं पाते उस उम्र में ऑस्ट्रेलिया के जॉर्ज कोरोनेस ने ऐसा कारनामा कर दिखाया, जिसने सभी को आश्चर्य में डाल दिया है। 99 साल के जॉर्ज ने 50 मीटर की फ्रीस्टाइल तैराकी में विश्व रिकॉर्ड के साथ इतिहास रच दिया है। उन्होंने 104 वर्ष की आयु वर्ग में 50 मीटर फ्रीस्टाइल तैराकी 56.12 सेकेंड में पूरी कर ली। हालांकि इस प्रतियोगिता में जॉर्ज अकेले प्रतिभागी थे। आयोजकों ने खास तौर पर रिकॉर्ड तोड़ने के लिए इस प्रतियोगिता का आयोजन किया था। इससे पहले ये रिकॉर्ड ब्रिटिश तैराक जॉन हैरिसन के नाम पर था। उन्होंने 2014 में 50 मिटर तैयारी में रिकॉर्ड बनाया था। जॉर्ज कोरोनेस ने ये रिकॉर्ड 35 सेकेंड के अंतर से ये रिकॉर्ड त...
paks-first-hindu-woman-senator

कृष्णा कुमारी - पाक की पहली हिंदू महिला सीनेटर

57 सप्ताह पहले
पाकिस्तान के सिंध प्रांत की कृष्णा कुमारी कोल्ही सीनेट के लिए निर्वाचित होने वाली देश की पहली हिंदू दलित महिला बन गई हैं। थार की रहने वाली 39 वर्षीय कृष्णा बिलावल भुट्टो जरदारी के नेतृत्व वाली पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की कार्यकर्ता हैं। बिलावल ने कहा कि कृष्णा का निर्वाचन पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के अधिकारों को दिखाता है तथा वह पाकिस्तान की राजनीति में प्रभावशाली भूमिका निभा सकती हैं। कृष्णा ने कहा कि वह खुश हैं कि पीपीपी ने उनमें और उनके कार्य में विश्वास जताया है। उन्होंने कहा, 'मैं मानवाधिकार कार्यकर्ता हूं और अल्पसंख्यकों, खासकर हिंदुओं को पेश आ रही समस्याओं को उजागर करती हूं। पीपीपी इस सीट पर किसी दूसरी महिला क...


Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो