sulabh swatchh bharat

शुक्रवार, 25 मई 2018

कमजोर बच्चे बनेंगे जादूगर

तिरवन्नतपुरम। मानसिक रूप से कमजोर बच्चे केरल में अब जल्द ही जादूगर बनने जा रहे हैं। राज्य सरकार की ओर से बनाए गए एक नवोन्मेषी कार्यक्रम के तहत यह संभव होगा।

सामाजिक न्याय विभाग के अधीन केरल सामाजिक सुरक्षा मिशन (केएसएसएम) और स्टेट इनिशिएटिव ऑन डिसबिलिटी (एसआईडी) मैजिक अकेडमी के साथ एक अद्वितीय मंडली तैयार करने के लिए हाथ मिला रहे हैं। ‘अधिकारिता’ शीषर्क से राज्य के विभिन्न स्कूलों के विशेष क्षमताओं वाले 400 से ज्यादा बच्चों को अकेडमी में मशहूर जादूगर गोपीनाथ मुथुकड के संरक्षण में प्रशिक्षण दिया जाएगा और उनमें से एक मंडली का चयन किया जाएगा।

केएसएसएम के कार्यकारी निदेशक डाक्टर अशील ने बताया कि राज्य सरकार के ‘अनुयात्रा अभियान’ के लिए ये बच्चे दूत होंगे। इस यात्रा का लक्ष्य राज्य में विशेष रूप से सक्षम लोगों के लिए बेहतर माहौल तैयार करना है। उन्होंने बताया कि चयनित मंडली को मुफ्त में चार महीने तक प्रशिक्षण दिया जाएगा। आधिकारिक रूप से इस मंडली की घोषणा सात जून को समाज के विभिन्न गणमान्य लोगों के समक्ष किया जाएगा। राज्य सामाजिक न्याय मंत्री के के शैलजा ‘एमपावर’ कार्यक्रम का उद्घाटन कजहाकूट्टम के मैजिक प्लानेट में कल एक कार्यक्रम में करेंगी।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो