sulabh swatchh bharat

मंगलवार, 14 अगस्त 2018

अमरावती में महिला संसद

नई दिल्ली। महिलाओं के सशक्तीकरण के उद्देश्य से आंध्र प्रदेश विधानसभा अमरावती में महिलाओं के प्रथम संसद की मेजबानी करने को तैयार है। वहां 10 हजार से अधिक उच्चतर माध्यमिक कक्षा की छात्राएं प्रबुद्ध महिला शख्सियतों से जुड़ेंगी।

तीन दिवसीय कार्यक्रम में छात्राएं 401 महिला विधायकों, 91 महिला सांसदों और भारत और विदेश की 300सामाजिक और कॉरपोरेट महिला नेताओं से जुड़ेंगी। आंध्र प्रदेश के कुर्नूल से सांसद बट्टा रेणुका ने कहा, ‘हमने अमरावती में पहले गैर राजनैतिक राष्ट्रीय महिला संसद की मेजबानी करने का फैसला किया है। इसका उद्देश्य जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से प्रबुद्ध महिला शख्सियतों और देशभर से हिस्सा ले रही 10 हजार से अधिक छात्राओं के बीच नेटवर्क को बनाना और उसे प्रोत्साहन देना है।’ एनडब्ल्यूपी महिलाओं के सशक्तीकरण में सामाजिक-राजनैतिक चुनौतियां’ और ‘‘महिलाओं की स्थिति और निर्णय करने की क्षमता’ विषय पर सत्र की मेजबानी करेगी। मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और बांग्लादेश के संसद की स्पीकर शिरीन शरमीन चौधरी की मौजूदगी में इसका उद्घाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो