sulabh swatchh bharat

बुधवार, 19 सितंबर 2018

जेट इंजन से दूर होगा प्रदूषण

नई दिल्ली। प्रदूषित शहरों में से एक दिल्ली के प्रदूषण के कम करने के लिए एक नई तकनीक का ईजाद किया गया है। यह दावा अमेरिका के वैज्ञानिक और एमआईटी के प्रोफ़ेसर डॉ. माशे ऑलमारो ने किया है। उन्होने दावा किया है कि जेट इंजन तकनीक से स्मॉग दूर होगा।

डॉ. माशे ने बताया कि दिल्ली में इस तकनीक से प्रदूषण को कम करके यह साबित करेंगे कि यह तकनीक कारगर है। यह जेट इंजन पावर प्लांट या ऐसी जगह पर लगाया जायेगा जहां पर धुआं अधिक निकलता है। यह धुएं को वायुमंडल में ऐसी जगह पर छोड़ेगा, जहां से प्रदूषण का असर नही होगा। यह इंजन 500 मीटर प्रति सेकेंड की रफ़्तार से धुएं को हटाएगा। जिस जगह पर इस इंजन को लगाया जाएगा,  वहां से एक किमी के रेंज में यह प्रदूषण को कम करेगा।

पंजाबी बाग और आनंद विहार दिल्ली के सबसे प्रदूषित इलाके हैं । इन जगहों पर इस इंजन को लगाए जाने की उम्मीद है। डॉ. माशे के मुताबिक एक इंजन पर 4 लाख रूपये का खर्च आएगा। इस तकनीक को विकसित करने में डॉ. माशे के साथ भारतीय वैज्ञानिक और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस बेंगलुरू के पूर्व प्रोफेसर आई. वी. मुरलीकृषण की भी अहम भूमिका है।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो