sulabh swatchh bharat

मंगलवार, 23 अप्रैल 2019

12 हजार गांव रौशन

नई दिल्ली। बिजली मंत्रालय ने बिना बिजली वाले 18,452 गांवों में से अब तक 12,000 से अधिक गांवों तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य हासिल कर लिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2015 को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से अपने संबोधन में कहा था कि बिजली से वंचित सभी 18,452 गांवों में 1,000 दिनों यानी एक मई 2018 तक बिजली पहुंचा दी जाएगी। गर्व (ग्रामीण विद्युतीकरण) पोर्टल के अनुसार अब तक 12,033 गांवों में बिजली पहुंचायी गयी है। शेष 5,665 गांवों के विद्युतीकरण के लिये काम जारी है। पोर्टल वास्तविक समय के आधार पर ग्रामीण विद्युतीकरण कार्यक्रम की निगरानी करता है। बिजली मंत्रालय के बयान के अनुसार कुल 18,452 गांवों में से5,665 गांव बचे हैं। शेष बचे गांव (70 प्रतिशत) मुख्य रूप से अरूणाचल प्रदेश (1,229)असम (972)झारखंड (892) और ओड़िशा (875) में हैं। बाकी के गांव ज्यादातर नक्सल क्षेत्रोंवन क्षेत्रोंबाढ़ प्रभावितदूरदराज पहाड़ी क्षेत्रों में हैं।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो