sulabh swatchh bharat

शनिवार, 21 जुलाई 2018

बनेंगे कच्चे तेल भंडार

नई दिल्ली। वैश्विक तेल बाजार में उतार-चढ़ाव के प्रभाव से देश को संभालने के एक प्रयास में सरकार ओड़िशा और राजस्थान में कच्चे तेल के भंडारण के लिए दो और दो भूमिगत भंडारण सुविधाएं तैयार करेगी।

ओड़िशा के चांदीखोल और राजस्थान के बीकानेर में इन दो नयी सुविधाओं की घोषणा करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2017-18 के लिए पेश अपने बजट में इन रणनीतिक भंडारगृहों में बिक्री से बचे स्टाक रखने के लिए विदेशी कंपनी को आयकर से छूट भी प्रदान की। भारत पहले ही विशाखापत्तनम में 13.3 लाख टनमंगलोर में 15 लाख टन और पडूर में 25 लाख टन क्षमता के भूमिगत भंडारगृह तैयार कर चुका है।
वित्त मंत्री जेटली ने अपने बजट भाषण में कहा, ‘हमारे उर्जा क्षेत्र को मजबूत करने के लिए सरकार ने रणनीतिक कच्चा तेल भंडारण व्यवस्था स्थापित करने का निर्णय किया है। पहले चरण मेंइस तरह की तीन भंडारण सुविधाएं स्थापित की जा चुकी हैं। अब दूसरे चरण में ओड़िशा के चांदीखोल और राजस्थान के बीकानेर में ये सुविधाएं स्थापित करने का प्रस्ताव है। इससे हमारी भंडारण क्षमता करोड़ 53 लाख 30 हजार टन पहुंच जाएगी।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो