sulabh swatchh bharat

शुक्रवार, 22 जून 2018

वैज्ञानिक शक्ति बन सकता है भारत

वड़ोदरा। नोबेल से सम्मानित वैज्ञानिक वेंकटरमन रामाकृष्णण ने कहा कि भारत में बड़ा वैज्ञानिक शक्ति बनने की क्षमता है और देश को इस क्षेत्र में निवेश जारी रखना चाहिए।

वेंकटरमण ने कहा, ‘एक अच्छे संस्थान की जरूरत है जो वैज्ञानिकों और अनुसंधानकर्ताओं को वापस भारत आने और यहां काम करने को आकषिर्त कर सके।’ उन्होंने कहा, ‘भारत में विज्ञान के क्षेत्र में महाशक्ति बनने की क्षमता है, लेकिन यह लंबी प्रक्रिया है और देश को विज्ञान के क्षेत्र में निवेश जारी रखने की जरूरत है।’ नोबेल से सम्मानित वैज्ञानिक ने बड़ौदा के महाराज सैयाजीराव विश्वविद्यालय में व्याख्यान देने आए थे। उन्होंने कहा, ‘जब मैं भारत में पढ़ता था तो कुछ गुणवत्तापूर्ण संस्थान थे, जो अब नहीं हैं। हमें अच्छे संस्थानों और अनुदान देने वाली एजेंसियों की जरूरत है जो लोगों को वापस देश की खींचे।’ वेंकटरमण को 2009 में रसायन शास्त्र में राइबोजोम्स की संरचना पर उनके काम के लिए संयुक्त रूप से नोबेल पुरस्कार दिया गया था।

Related Post



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो