sulabh swatchh bharat

शनिवार, 20 अक्टूबर 2018

रोशन सोढ़ी - रोशन आइडिया

चुनावी धांधली पर अंकुश लगने के लिए छठी कक्षा के छात्र का आइडिया ऐसा है जिसे जानकर हर कोई हैरान हो जाएगा

किसी बेहतरीन आइडिया के लिए छोटी उम्र आड़े नहीं आती। इसी बात को चरितार्थ किया है छठी क्लास में पढऩे वाले रोशन सोढ़ी ने। खुद मतदाता बनने में रोशन के अभी भले चार-पांच साल बचे हों लेकिन उन्होंने चुनावों के दौरान होने वाली धांधली की खबरों को सुनकर एक ऐसा सुझाव दिया है जिसकी मदद से किसी मतदान केंद्र पर पड़े मतों का आंकड़ा तुरंत ही नियंत्रण कक्ष में भेजा जा सकता है। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के इस नन्हें इनोवेटर को इस इनोवेटिव आइडिया के लिए डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम इग्नाइट प्रतियोगिता- 2016 के लिए चुना गया है। रोशन के अनुसार उनका आइडिया किसी मतदान केंद्र पर लगाई गई ईवीएम में डाले गए मतों का आंकड़ा तत्काल जिला निर्वाचन तक मुख्यालय पहुंचा देने से जुड़ा है। उनका कहना है कि इसके लिए हमें एक ऐसी प्रणाली विकसित करनी होगी जिसके तहत आपात स्थिति आने पर मतदान केंद्र में ईवीएम से जुड़े एक बटन को दबाते ही सारे आंकड़े नियंत्रण केंद्र तक पहुंच जाएंगे। उनके इस इनोवेटिव आइडिया की काफी सराहना हुई है। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम इग्नाइट प्रतियोगिता एक राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता है। इसका आयोजन देशभर के बच्चों की कल्पना और सृजनशीलता को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो