sulabh swatchh bharat

रविवार, 23 सितंबर 2018

डिजिटलीकरण की तरफ सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। डिजिटलीकरण की तरफ एक बड़ा कदम बढाते हुए उच्चतम न्यायालय ने अपने हालिया सुधार अभियान के तहत आजादी से पहले के समय से वर्ष 2002 तक के एक करोड़ पांच लाख पेजों और दीवानी अपीलों के रिकार्ड को डिजिटल रूप दिया।

शीर्ष अदालत द्वारा जारी भारतीय न्यायपालिका वाषिर्क रिपोर्ट 2015-2016 में कहा गया कि दस्तावेज प्रबंधन प्रणाली के तहत अदालत रिकार्ड का डिजिटलीकरण किया गया और अब ये दस्तावेज माउस के एक क्लिक पर उपलब्ध होंगे। रिपोर्ट में कहा गया कि पिछले साल फरवरी में 50 हजार स्कैन पेज प्रति दिन बनाने में सक्षम नई एसेंबली लाइन बनाई गई जिसने बड़ी संख्या में दस्तावेजों का डिजिटलीकरण किया।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो