sulabh swatchh bharat

मंगलवार, 16 अक्टूबर 2018

बजट बनाने में नारी शक्ति

नई दिल्ली। इस साल बजट बनाने की प्रक्रिया में महिला अधिकारियों ने पूर्व के वर्षों से कहीं अधिक योगदान दिया है। बजट बनाने की प्रक्रिया में जुटे वरिष्ठ स्तर के अधिकारियों में 41 प्रतिशत महिलाएं रही हैं। ये महिला अधिकारी सरकार के कुल बजट संबंधित कार्य के 52 प्रतिशत भाग को देख रही हैं।

सूत्रों ने बताया कि विभिन्न केंद्रीय मंत्रालयों तथा विभागों में अतिरिक्त सचिव और संयुक्त सचिव स्तर के 34 वित्तीय सलाहकारों में 14 महिला अधिकारी हैं। ये महिला अधिकारी सरकार का बजट से संबंधित 52 प्रतिशत कामकाज देख रही हैं।

सूत्रों ने कहा कि महत्वपूर्ण मंत्रालयों मसलन वित्त, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, मानव संसाधन विकास, युवा, कौशल विकास तथा खेल के वित्तीय सलाहकारों ने बजट पूर्व प्रक्रिया में भारी योगदान दिया है। इसके अलावा नागर विमानन, शहरी विकास, रसायन एवं उर्वरक, कोयला एवं खान, डाक, डेइटी, सामाजिक न्याय, विज्ञान एवं औद्योगिक अनुसंधान मंत्रालय के अधिकारी बजट प्रक्रिया में शामिल रहे हैं।

विभिन्न मंत्रालयों में इन सलाहकारों का प्रमुख दायित्व बजट पूर्व प्रक्रिया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली एक फरवरी को आम बजट पेश करेंगे। वित्त मंत्रालय का विभिन्न मंत्रालयों तथा विभागों के साथ बजट पूर्व विचार विमर्श नवंबर के मध्य में शुरू हुआ था।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो