sulabh swatchh bharat

गुरुवार, 19 अप्रैल 2018

गुजरात में बुलेट ट्रेन के लिए एमओयू

गांधीनगर। गुजरात सरकार ने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए रेल मंत्रालय के साथ 77000 करोड़ रुपये के सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

एमओयू पर मुख्यमंत्री विजय रूपानी और उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल की मौजूदगी में वाइब्रेंट गुजरात समिट के दौरान हस्ताक्षर किए गए। राज्य सरकार ने एक विज्ञप्ति में बताया कि हाई स्पीड बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए 1.10 लाख करोड़ रुपये की कुल लागत में से वह 70 फीसदी हिस्सा हासिल करेगी।  समझौते पर गुजरात सरकार और हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन (एचएसआरसी) के बीच हस्ताक्षर किया गया। एचएसआरसी रेल मंत्रालय के अंतर्गत आता है।

रूपानी ने संवाददाताओं से कहा, ‘इस समझौते के तहत 77000 करोड़ रुपये बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए गुजरात में निवेश किए जाएंगे। हमने रेल मंत्रालय के साथ इस संबंध में एक एमओयू पर आज हस्ताक्षर किया।’ हाई स्पीड बुलेट ट्रेन के मुंबई और अहमदाबाद के बीच 508 किलोमीटर की दूरी तकरीबन दो घंटे में तय करने का अनुमान है। यह ट्रेन अधिकतम 350 किलोमीटर प्रति घंटे और ऑपरेटिंग स्पीड 320 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी। परियोजना के 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है। यात्री इस दौरान समुद्र के भीतर यात्रा करने का रोमांच महसूस करेंगे। यह देश की पहली बुलेट ट्रेन होगी जिसके लिए समुद्र के भीतर 21 किलोमीटर लंबी सुरंग बनाई जाएगी। जापान इंटरनेशनल कॉरपोरेशन एजेंसी (जिका) द्वारा प्रस्तावित विस्तृत परियोजना रिपोर्ट के अनुसार जहां कॉरिडोर का अधिकतर हिस्सा प्रस्तावित एलिवेटेड ट्रैक पर होगा, वहीं ठाणे क्रीक से विरार की ओर जाने वाला हिस्सा समुद्र के भीतर से होकर गुजरेगा।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो