sulabh swatchh bharat

बुधवार, 23 मई 2018

जैतून की व्यावसायिक खेती

जयपुर। राजस्थान, व्यावसायिक स्तर पर जैतून की खेती करने वाला पहला राज्य होगा। जयपुर जिले के बस्सी कस्बे में शीघ्र जैतून की चाय बनाने का संयंत्र स्थापित किया जायेगा साथ ही राज्य सरकार दिल की बीमारियों के उपचार में काम आने वाली दवाईयों के लिये जैतून की पत्तियों से ओलिक एसिड निकालने के बारे में गंभीरता से विचार कर रही है।

कृषि और बागवानी विभाग के प्रमुख शासन सचिव नीलकमल दरबारी और राजस्थान ओलीव कल्टीवेशन लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी योशेग कुमार वर्मा ने यह जानकारी दी। दरबारी के अनुसार राजस्थान सरकार और एक निजी कम्पनी के बीच जैतून की चाय उत्पादन का संयत्र लगाने के एक करार पर हस्ताक्षर किए गए है। करार पांच वर्षों के लिये किया गया है और सरकार का आय में से दस प्रतिशत का हिस्सा होगा।

परियोजना के बारे में बताते हए राजस्थान जैतून खेती लिमिटेड (राजस्थान ओलीव कल्टीवेशन लिमिटेड) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी योशेग कुमार वर्मा ने बताया कि कम्पनी को झुंझुंनू, जयपुर और जालौर में जैतून की पत्तियां इकठठा करने का कार्य दिया गया है। 75 प्रतिशत हिस्सा साझेदार कम्पनी के पास होगा जबकि 25 प्रतिशत हिस्सा सरकार का होगा। लघु उद्योग आधारित संयत्र में प्रतिदिन 50 किलो चाय का उत्पादन किया जा सकेगा। कम्पनी को चाय का स्वाद चखने के लिए टी टेस्टर भी नियुक्त किया गया है। कम्पनी खेतों की देखभाल के साथ सभी प्रकार के खर्चे वहन करेगी।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो