sulabh swatchh bharat

सोमवार, 22 अप्रैल 2019

96 वर्षीय महिला को 100 में 98 अंक

कार्ति ने साक्षरता मिशन की परीक्षा में 100 में से 98 नंबर हासिल किए हैं

केरल की 96 वर्षीय कार्तियनियम्मा कृष्णपिल्ला ने चौथी कक्षा की परीक्षा 98 प्रतिशत अंकों के साथ पास करके यह साबित कर दिया है कि सीखने की कोई उम्रसीमा नहीं होती। कार्ति ने केरल के अक्षरलक्षम प्रोजेक्ट के तहत आयोजित होने वाली परीक्षा में 100 में से 98 नंबर हासिल किए हैं। यह एक ऐसा प्रोजेक्ट है जिसे राज्य में 100 फीसदी साक्षरता दर हासिल करने के लिए चलाया जा रहा है। कार्ति ने बताया कि उन्होंने अपने परपोतियों की मदद से यह कारनामा कर दिखाया।
कार्ति ने बताया कि उनकी परपोतियां अपर्णा (12) और अंजना (9) ने उनकी खूब मदद की और लिखने, पढ़ने और जोड़ने के बारे में बताया। कार्ति का कहना है कि वह सिर्फ इतने से रुकने वाली नहीं हैं। अब उन्होंने अंग्रेजी सीखने का मन बना लिया है। वह कहती हैं, ‘मेरे परपोते अंग्रेजी मीडियम स्कूल में पढ़ते हैं, इसलिए मैं भी अंग्रेजी सीखना चाहती हूं।’ 
कार्ति ने बताया कि उनकी सबसे छोटी बेटी अम्मीनि अम्मा जो कि 51 साल की है, उनके लिए प्रेरणा की स्रोत बनी। अम्मी की पढ़ाई भी छूट गई थी और उन्होंने हाल ही में दसवीं की परीक्षा दी। बातचीत के क्रम में कार्ति ने कहा, ‘हमारे दिनों महिलाओं को शिक्षा से दूर रखा जाता था और वे स्कूल नहीं जाती थीं। अभी कुछ साल पहले मेरी छोटी बेटी ने फिर से दसवीं की परीक्षा देने का फैसला किया था। उससे मैं खुश हुई और मैंने भी पढ़ाई करने का फैसला ले लिया।’ कार्ति की निरीक्षक के. सती ने उनकी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि इस उम्र में भी कार्ति की याददाश्त काफी तेज है और वह कुछ भी नहीं भूलतीं। कार्ति के हौसले की तारीफ करते हुए केंद्रीय पर्यटन मंत्री के अल्फॉन्स ने कहा, ‘कार्ति हमारे समाज में शिक्षा की मशाल थामने वाले महिला हैं। उनसे न जाने कितने लोग प्रभावित होंगे। मैं उनके इस कारनामे की प्रशंसा करता हूं।’



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो