sulabh swatchh bharat

सोमवार, 20 मई 2019

निजी लैब में होगी खाने की जांच

सरकार ने अब रेस्टोरेंट के भोजन की जांच कराने के लिए निजी लैब के साथ करार किया।

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली के रेस्टोरेंट में परोसे जाने वाले भोजन के गुणवत्ता जांचने के लिए सरकार ने 18 निजी लैब के साथ करार किया है। पहले दिल्ली सरकार के खाद्य एवं सुरक्षा विभाग को अगर किसी होटल व रेस्तरां में घटिया खाने-पीने के चीजों की शिकायत मिलती थी। तब नमूने की जांच सरकारी लैब में कराई जाती थी। दिल्ली में एक मात्र लैब होने से वहां से रिपोर्ट मिलने में देरी होती थी। विभाग भी उचित निर्णय नहीं ले पाता था। 

बता दें कि इस परेशानी को दूर करने के लिए सरकार ने खाद्य पदार्थो के नमूने जांचने के लिए निजी लैब के साथ करार किया है। खाद्य एवं सुरक्षा विभाग की आयुक्त डा मृणालिनी दरसवाल के मुताबिक इस करार के बाद खाद्य पदार्थो के नमूने की जांच 20 गुना अधिक तेजी से होगी। रिपोर्ट समय पर मिल जाएगी, जिससे संबंधित होटल व रेस्तरां मालिकों के खिलाफ कारर्वाई में आसानी होगी। 

बीते फरवरी महीने में देवली इलाके में स्थित सरकारी स्कूल में मिड डे मील में मृत चूहे होने का मामला सामने आया था। उस दौरान भी मिड डे मील की जांच सरकारी और निजी लैब से कराई गई थी। तभी सरकार ने होटल व रेस्तरां से लिए गए नमूने की जांच के लिए निजी लैब के साथ करार को लेकर पहल शुरू की थी।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो