sulabh swatchh bharat

सोमवार, 20 मई 2019

सौर उर्जा नलकूप

राजस्थान में पहली बार सौर उर्जा आधारित नलकूप लगाये गये

जयपुर: राजस्थान के दूरदराज के इलाकों  में बिजली नहीं होने की वजह से नलकूप लगाने में समस्या आती रही  है। इसलिए वहां प्रदेश में पहली बार सौर उर्जा आधारित नलकूप लगाये जा रहे हैं।

राजस्थान के जन स्वास्थ्य अभियांयिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव जे सी महान्ति ने बताया कि बिजली की उपलब्धता नहीं होने या भूजल का स्तर काफी नीचे होने की वजह से हैंडपम्प चलाने में आने वाली दिक्कत का समाधान करने के लिए सौर उर्जा आधारित नलकूप लगाने का निर्णय लिया गया। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में प्रदेश में एक हजार 44 सौर उर्जा आधारित बोरवैल पम्पिग प्रणाली का काम प्रगति पर है। यह काम करीब एक साल में पूरा हो जायेगा।

उन्होंने बताया कि अब तक 91 से अधिक सौर उर्जा आधारित बोरवेल और दो सौ डीफ्लोरिडेशन यूनिट लगायी जा चुकी है। दूसरे चरण में ग्यारह सौ 75 सौर उर्जा आधारित डीफ्लोरिडेशन यूनिट लगायी जायेंगी जिनके कार्य आदेश जारी किये जा चुके है।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो