sulabh swatchh bharat

सोमवार, 20 मई 2019

योगशाला और नशामुक्ति केंद्र

सरकार ने साहिबाबाद डिपो के कर्मचारियों के लिए योगशाला और नशामुक्ति केंद्र बनाने का फैसला किया है

नई दिल्ली: साहिबाबाद बस डिपो परिसर में खाली पड़ी 2800 वर्ग मीटर जमीन पर वहां के कर्मचारियों के लिए योगशाला और नशा मुक्ति केंद्र बनाने का फैसला किया गया है। प्रदेश के परिवहन मंत्री ने स्थानीय विधायक और एआरएम के साथ डिपो का निरीक्षण कर योगशाला और एक नशामुक्ति केंद्र बनाने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए मंगलवार से तैयारियां भी शुरू हो गई।  
 

डिपो एआरएम अनिल कुमार के मुताबिक यहां काफी संख्या में लगे पेड़-पौधे को बिना नुकसान पहुंचाए ही योगशाला का निर्माण किया जाएगा। योगशाला में घास के साथ फूल-पौधे भी लगाए जाएंगे। 15 दिनों में योगशाला का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। अनुभवी योग गुरु साहिबाबाद डिपो में कार्यरत एक हजार कमर्चारियों को योग सिखाए जाएंगे। 

 

मंत्री ने कहा कि कुछ चालक और परिचालक नशा करते हैं। ऐसे में समय.समय पर चालकों और परिचालको का काउंसलिंग होना जरूरी है। एआरएम ने कहा कि जल्द ही योगशाला के पास ही नशा मुक्ति केंद्र का निर्माण कराया जाएगा। सौ दिन में डिजिटल सेवाओं से होगा लैस निगम

सोमवार एक बजे कौशांबी डिपो पहुंचे परिवहन मंत्री ने कहा कि 100 दिनों में परिवहन निगम डिजिटल सेवाओं से लैस होगा। सभी बसों में जीपीएस इंस्टॉल होंगे। इससे बसों की सही स्थिति और गति का पता चलेगा। 

परिवहन मंत्री ने कहा कि रेलवे की तर्ज पर अब बसों की भी पल-पल की जानकारी आनलाइन मिलेगी। इसके लिए मोबाइल एप और बेवसाइट बनाई जा रही है। यहां के सभी अनुबंधित ढाबों की जांच कराई जाएगी ताकि खराब भोजन परोसे जाने पर दोषी का अनुबंध रद्द किया जाए।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो