sulabh swatchh bharat

रविवार, 18 नवंबर 2018

थाइलैंड की लोककथा - ज्यादा चालाक कौन था?

ज्यादा चालाक कौन था?

क्ले और पिआ मंदिर में रहने वाले लड़के थे। एक दिन क्ले की मां उससे मिलने आई और उसको जेब खर्च के लिए पांच भात दे गई। क्ले ने बहुत सोचा कि उसे कहां रखा जाए। अंत में उसने उसे जमीन में गाड़ देने की सोची। उसने पैसे गाड़ दिए और उस जगह पर निशानी के लिए एक नोटिस लिख कर लगा दिया, 'यह वह जगह नहीं है जहां पांच भात गड़े हुए हैं।’

काम से निबट कर वह सैर करने निकला। इतने में पिआ उधर से निकला तो उसको नोटिस देखकर आश्चर्य हुआ। उसने जमीन खोदकर पैसे निकाले और लेकर चलता बना। लेकिन क्योंकि वह दिखाना था कि उसको भी लिखना आता है, उसने चलने के पहले क्ले के नोटिस पर जो लिखा था उसे मिटा कर लिख दिया, 'पैसे पिआ ने नहीं लिए।’

कुछ देर सैर करने के बाद क्ले को अपने भात (पैसे)की चिंता हुई। वह उस जगह वापस गया जहां पैसे गाड़े थे। जमीन खोदी, लेकिन पैसा नदारद! परेशान क्ले रोता हुआ पुजारी के पास गया और उसको बताया। पुजारी ने पूछा, 'तुमने पैसे गाडऩे के बाद वहां कोई निशान बनाया था?’ क्ले ने बताया कि उसने पैसे गाडऩे के बाद वहां एक नोटिस लगा दिया था जिसमें लिखा था, 'यह वह जगह नहीं है जहां पांच भात गड़े हैं। किसी ने पैसे निकाल लिए और उस नोटिस में जो लिखा था उसको मिटा कर लिख दिया है,’ पिआ ने पैसे नहीं निकाले।’ पुजारी को हंसी आई। वह तुरंत जान गए कि पैसे किसने निकाले है। उन्होंने पिआ को बुलाकर उससे फौरन क्ले को पैसे वापस करने को कहा। फिर बोले, 'तुम सिर्फ चोर नहीं हो, बेवकूफ चोर हो।’



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो