sulabh swatchh bharat

गुरुवार, 26 अप्रैल 2018

भूखों के भामाशाह की भूमिका

देश में हर रात 20 करोड़ लोग भूखे पेट सोने को अभिशप्त

आज भी जहां देश में एक तरफ करीब 20 करोड़ लोग हर रात भूखे पेट सोने को अभिशप्त हैं वहीं दूसरी ओर एक अनुमान के मुताबिक हर साल 58 हजार करोड़ रुपये का खाना शादी-विवाह और अन्य समारोहों में बर्बाद कर दिया जाता है। ये दोनों ही आंकड़े हर भारतीय को अचंभित करने वाले हैं। देश में इतनी बड़ी रकम के भोजन नष्ट होने की बात जानकर 24 वर्षीय अंकित क्वात्रा भी स्तब्ध हो गए। लेकिन वे दूसरों की तरह चुप नहीं रहे। उन्होंने 2014 में भुखमरी के शिकार लोगों तक यह भोजन पहुंचाने का संकल्प किया और इस नेक उद्देश्य के लिए उन्होंने गैर-सरकारी संगठन 'फीडिंग इंडिया’ का गठन किया। उनकी कोशिशें रंग लाई और आज फीडिंग इंडिया देश के 28 शहरों में विभिन्न आयोजनों में बचे भोजन को एकत्रित कर उसे जरूरतमंदों में बांटने का काम करती है।

अंकित के इस योगदान को संयुक्त राष्ट्र के कार्यक्रम से पहचान मिली। हाल ही में संयुक्त राष्ट्र ने उन्हें टिकाऊ विकास लक्ष्य के लिए यूएन युवा नेतृत्व के औपचारिक दल में शामिल किया है। गरीबी, विषमता और अन्याय के खिलाफ लडऩे और साल 2030 तक जलवायु परिवर्तन जैसे क्षेत्रों में योगदान और नेतृत्व क्षमता के लिए पूरी दुनिया से 17 युवाओं को चुना गया है।  दरअसल अंकित के लिए 2014 की उस रात की एक घटना आंख खोलने वाली साबित हुई। उस रात वे एक बड़े आदमी की शादी समारोह में शामिल हुए थे। उन्होंने देखा कि शादी में जितना बचा खाना डस्टबिन में फेंक दिया गया उतने से 5000 भूखे लोगों की पेट की आग बुझाई जा सकती है। अंकित ने पाया कि शादी हो या फिर कोई अन्य समारोह भोजन का बर्बाद होना अनवरत जारी है। एक प्रकार से खाने की बर्बादी आदत सी बनी हुई है। इसे देखते हुए उन्होंने तुरंत एक कार्ययोजना तैयार की। उन्होंने अपने दोस्तों के साथ मिलकर पार्टियों से बचे खाने को संग्रहित कर उसे जरूरतमंदों के बीच बांटना शुरू कर दिया। इस प्रकार अंकित का फीडिंग इंडिया अस्तित्व में आया।

अंकित का संगठन अभी देश के 28 शहरों में भूखों को खिलाने का कार्यक्रम चला रहा है। उन्होंने रैन बसेरा जैसे आश्रय घर समेत कई गैर-सरकारी संगठनों के साथ भोजन बांटने के एक प्रभावी चैनल बनाने के लिए गठजोड़ किया है। बचे भोजन के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए 24 घंटे की एक हेल्पलाइन सेवा शुरू की गई है। अंकित और फीडिंग इंडिया के प्रयास समाज में एक नई भावना का संचार कर सकते हैं।  

हाईलाइट

शादी और समारोहों में बचे भोजन को जरूरतमंदों तक पहुंचाते हैं



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो