sulabh swatchh bharat

शनिवार, 26 मई 2018

जानवरों का ज्योतिष

कुंडली बांचने वालों और हाथ की लकीरें पढऩे वालों के बहुत सारे किस्से आपने सुने होंगे। कई ऐसे भविष्यवक्ताओं के बारे में भी पढ़ा और जाना होगा, जिनकी भविष्यवाणियों ने पूरी दुनिया को चकित किया है, लेकिन हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे जानवरों के बारे में जिनकी भविष्यवाणियां हैरान करने वाली रहीं |

मैं अपनी पत्नी के साथ राजस्थान के चोखी ढाणी की यात्रा पर था। वहां मैंने तोते के सहारे भविष्यफल बताने वाले एक ज्योतिषी को देखा। उसे देखकर मेरे अंदर भी भविष्यफल जानने की उत्सुकता जगी। हालांकि उस समय तक मैं इन सभी चीजों में कभी विश्वास नहीं करता था। हरे पंख और लाल चोंच वाला पक्षी शाही अंदाज में बाहर आया और उसने मेरे लिए एक कार्ड उठाया। कार्ड निकालने के बाद वापस अपने पिंजरे में चला गया। उसने मेरे लिए जो कार्ड निकाला, मैंने उत्सुकता से उसे पढ़ा। उसके अनुसार मैं अपना निजी व्यवसाय करूंगा और उसी से अपना जीवन-यापन करूंगा। मैं पक्षी पर भरोसा नहीं कर सकता, लेकिन उसका सम्मान करने के लिए मैं मुस्काराया और उसे कुछ रुपए दिए। मेरे जेहन में तुरंत सवाल उठने लगा। मैं और वो भी व्यापार में? ऐसा कभी नहीं हो सकता। मैं अपनी अच्छी-खासी नौकरी से खुश हूं।

समय बीतने के साथ मेरी जिदंगी भी बदल गई। मैंने अपना व्यापार शुरू किया। इसके जरिए मुझे समाज सेवा का मौका मिला और लोगों को नौकरी देने का भी। मैं उस छोटे और मीठे वाकये को भूल चुका था, लेकिन पक्षी का मेरे लिए वो कार्ड निकालना एक संयोग मात्र था या फिर वो किसी बड़े चीज से कनेक्ट था?

ज्योतिष अलंकार में क्लास के दौरान हमें बताया गया था कि पशु और पक्षी धरती पर घटित होने वाली कई घटनाओं के बारे में भविष्यवाणी करने में सक्षम होते हैं, मसलन मौसम और भूकंप के बारें में इन्हे पहले ही भनक लग जाती है। कई लोग कहते हैं कि यदि पशु असामान्य व्यवहार करने लगे, तो समझना चाहिए कि कोई प्राकृतिक अनहोनी होने वाली है मसलन, भूकंप आ सकता है।

यह अक्सर देखा जाता है कि हजारों पक्षी एक साथ उड़ते हैं, लेकिन वे आपस में कभी एक-दूसरे से नहीं टकराते। विज्ञान कहता है कि कोई पक्षी जब अंडे से बाहर निकलकर उडऩे के लिए तैयार होता है, तो उसके शरीर में एक भूचुम्बकत्व आ जाता है। यह तंत्र जीवनभर उसके एक मार्गदर्शक के रूप में कार्य करता है। पक्षी हमेशा भूचुम्बकत्व का अनुसरण करता है, इसीलिए कोई दुर्घटना घटित नहीं होती है।

जरा कल्पना कीजिए कि हमें और आपको भी यह आवृत्ति मिल जाए, तो कोई दुर्घटना घटित नहीं होगी। लेकिन यह क्षमता मनुष्यों में नहीं होती है। पशु और पक्षी अनुक्रम में मनुष्य से नीचे होता है।

ऐसा लगता है कि प्रकृति ने इनको कुछ अतिरिक्तचेतनाएं दी हैं ताकि ये लोग अपना अस्तित्व बचा सकें। विश्वभर में जानवरों और समुद्री जीवों से जुड़ी कई कहानियां सुनी गई हैं। ये जानवर तथा समुद्री जीव सिर्फ भूचुम्बकत्व आवृत्ति से ही नहीं जुड़े होते हैं, बल्कि शायद आने वाले वक्त के बारे में भविष्यवाणी करने में भी सक्षम होते हैं।

गेडा बंदर कीभविष्यवाणी

चीन के गेडा बंदर ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप के जीत की भविष्यवाणी कर दी थी। उसने एकदम किसी मानव ज्योतिषी की तरह ही यह भविष्यवाणी की थी। उसके सामने डोनाल्ड ट्रंप और हिलेरी क्लिंटन का कटआउट खड़ा कर दिया गया। गेडा ने सबसे पहले उछलकर ट्रंप को चूम लिया और उसके बाद ट्रंप के नाम का प्लेकार्ड भी निकाला। गेडा ने सटीक भविष्यवाणी की थी। वह शत प्रतिशत सफल रही, जबकि राजनीतिक विश्लेषक, आम लोग तथा अन्य भविष्यवक्ता असफल साबित हुए। गेडा इससे पहले भी एक बार सुर्खियों में आ चुका है। इस रहस्यमयी बंदर ने यूरो 2016 में पुर्तगाल के जीत की भविष्यवाणी भी की थी, जो सच साबित हुई।        

ऑक्टोपस पॉल

2012 के फीफा वल्र्ड कप में ऑक्टोपस पॉल की भविष्यवाणी शत प्रतिशत सच साबित हुई थी। पहला मैच जर्मनी और इंग्लैंड के बीच था। उसके जलीय घर में दो बॉक्स रख दिए गए। एक बॉक्स पर जर्मनी का राष्ट्रीय झंडा और एक पर इंग्लैड का राष्ट्रीय झंडा लगाया गया। पॉल बॉक्स से बाहर निकला और जर्मनी के झंडे को चूम लिया। जर्मनी ने वह मैच 4-1 से जीता। दूसरा मैच अर्जेंटीना से था। इस बार भी पॉल ने जर्मनी की जीत का दावा किया। एक बार फिर उसकी भविष्यवाणी फिर सच साबित हुई। तीसरा मैच स्पेन के खिलाफ था। इस मैच में जर्मनी के पास 2008 के यूरो फाइनल में मिली हार का बदला लेने का सुनहरा मौका था। लेकिन इस बार पॉल ने स्पेन के झंडे को चूमा। स्पेन 2008 यूरो फाइनल के इतिहास को दोहराते हुए 1-0 से जीत दर्ज करने में सफल रहा। इसके साथ ही जर्मनी वल्र्ड कप से बाहर हो गया।

'वनमानुष कभी झूठ नही बोलता’

चीन के सियान्हु इकोलॉजिकल पार्क में एक प्यारा-सा बंदर वनमानुष रहता है। समुद्री जीव पॉल के बाद यह भी खूब मशहूर हुआ। चीन में कहावत है, 'वनमानुष कभी झूठ नही बोलता।’ इसकी भविष्यवाणी अधिकतर सच साबित हुई है। केयूटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, उताह के 'होगले जू’ में रहने वाले जानवर पिछले 8 सालों से सुपर बाउल चैंपियनशिप रिजल्ट के बारे में भविष्यवाणी कर रहे हैं। 2016 में एक 15 महीने के वनमानुष को भविष्यवाणी करने के लिए चुना गया था। उसने कागज के एक टुकड़े से भविष्यवाणी की।

पूरे राज्य के साथ यह बंदर भी कैरोलीना के पक्ष में था। सभी यह चाहते थे कि सुपर बाउल-50 में कैरोलीना पैंथर्स जीत हासिल करे। वास्तव में यह सच हुआ। कैरोलीना पैंथर्स ने जीत दर्ज की। इन जीवों को ये सब बातें कैसे पता चलती हैं। क्या वास्तव में इन्हें कोई अलौकिक शक्तियां मिली हैं या फिर ये बस ऐसे ही अपने मन से ऐसी भविष्यवाणियां कर देते हैं। क्या ये लोग इसके जरिए मनुष्यों को यह अहसास दिलाना चाहते हैं कि वे भी इस ब्रह्मïांड का हिस्सा हैं। इन सभी बिंदुओं पर अभी बहस जारी है। 



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो