sulabh swatchh bharat

बुधवार, 24 अक्टूबर 2018

बाल मजदूरी के लिए कड़े कदम

नई दिल्ली। सरकार ने आज कहा कि देश में बाल मजदूरी का मुख्य कारण गरीबी और निरक्षरता है तथा देश को इस बुराई से मुक्त करने के लिए कठोर नियम कानून बनाए गए हैं।

श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक प्रश्नों के जवाब में कहा, ‘मैं सदस्य से सहमत हूं कि बाल मजदूरी का मुख्य कारण गरीबी और निरक्षरता है।’ उन्होंने कहा कि सरकार ने कानून में संशोधन किए हैं और जेल की सजा को बढ़ाने सहित कड़े नियम बनाए हैं। मंत्री ने कहा कि बालश्रम कराने पर जुर्माना बढ़ाकर 10 हजार से 20 हजार रुपए किया गया और अब इसे 50 हजार रुपए कर दिया गया है।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो