sulabh swatchh bharat

गुरुवार, 22 फ़रवरी 2018

विश्व पुस्तक मेले का आगाज

नई दिल्ली। 44वें विश्व पुस्तक मेले की शुरुआत आज से हो गई। नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित हो रहा यह मेला एफ्रो-एशियाई देशों के बड़े मेलों में से एक है। इसमें 2500 से ज्यादा स्टॉल लगाए गए हैं।

विश्व पुस्तक मेला का इस साल का थीम 'मानुषी' है, जिसमें महिलाओं द्वारा और महिलाओं के ऊपर लिखने वालों पर ध्यान दिया जाएगा। यह मेला प्रगति मैदान में 7 से 15 जनवरी तक चलेगा। नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा भारत व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) के सहयोग से इस पुस्तक मेले का आयोजन किया जा रहा है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डॉक्टर महेंद्रनाथ पांडे इस मेले का उद्घाटन करेंगे, जबकि मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर 10 जनवरी को थीम पवेलियन का उद्घाटन करेंगे।

विख्यात ओडिया लेखिका और ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित डॉक्टर प्रतिभा रे इस समारोह की मुख्य अतिथि होंगी। यूरोपीय संघ के प्रतिनिधिमंडल के भारत में राजदूत तोमाज कोजलोस्की विशिष्ट अतिथि होंगे। नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया (एनबीटी) इस साल अपनी स्थापना की 60वीं वर्षगांठ भी मना रहा है। विशेष प्रदर्शनी 'पीछे मुड़कर नहीं देखना है!' के जरिए यह पुस्तकों और पढ़ने वालों को बढ़ावा देने की अपनी यात्रा का प्रदर्शन भी करेगा। इस प्रदर्शनी के जरिए नेशनल बुक ट्रस्ट विभिन्न गतिविधियों जैसे पुस्तकों को बढ़ावा देने के लिए ट्रस्ट द्वारा पूरे देश में पुस्तक मेलों का आयोजन, अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेलों में एनबीटी की भागीदारी और कार्यक्रमों का प्रकाशन इत्यादि, को प्रदर्शित भी करेगा।

टिकट दर वयस्कों के लिए 30 रुपये और 12 साल की उम्र से कम के बच्चों के लिए 20 रुपये रखी गई है। टिकट प्रगति मैदान के काउंटरों के अलावा मेट्रो स्टेशनों पर भी उपलब्ध रहेंगे।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो