sulabh swatchh bharat

शुक्रवार, 22 जून 2018

दिव्यांगों के लिए 'प्रोजेक्ट स्माइल'

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने सीखने में दिक्कत का सामना कर रहे बच्चों के लिए ‘प्रोजेक्ट स्माइल’ नाम की एक पहल शुरू की है। इसका मकसद यह सुनिश्चित करना है कि ऐसे बच्चे पढ़-लिख सकें और किसी से पीछे नहीं रहें।

इस साल 14 नवंबर को जब ‘हर बच्चा पढ़ सके’ अभियान संपन्न हुआ, तो छठी से आठवीं कक्षा तक के ऐसे करीब 35,000 बच्चे थे जो स्कूल के प्रयासों के बाद भी वर्णमाला की पहचान नहीं कर पाते थे। इस समस्या के समाधान के लिए इसकी शुरुआत की गई है। इस पहल के तहत इन बच्चों को सीखने में आने वाली समस्याओं की जांच की जाएगी और उसके बाद उचित मदद मुहैया कराई जाएगी। परियोजना का मकसद सरकारी स्कूलों में ऐसे बच्चों की अनदेखी की आशंकाओं को रोकना है। स्क्रीनिंग टेस्ट के नतीजों के आधार पर विशेष शिक्षकों और परामर्शदाताओं को बच्चों का समूह आवंटित किया जाएगा, ताकि उन्हें विशेषीकृत समर्थन दिया जा सके।

Related Post



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो