sulabh swatchh bharat

शुक्रवार, 14 दिसंबर 2018

हरियाणा प्रदेश में सुधरा लिंगानुपात

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना की आवाज हरियाणा के कोने-कोने तक पहुंची।

सीएम मनोहर लाल खट्टर की मानें 2016 में राज्य में लिंगानुपात 901 के आंकड़े को छू चुका है। इसके अलावा बेटियों के लिए कई योजनाएं सरकार ने लागू की है।

'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' योजना की शुरुआत देश भर के 100 जिलों से की गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 को हरियाणा के पानीपत जिले से इसकी शुरुआत की थी। हरियाणा में ऐसे 12 जिले हैं जहां का लिंगानुपात औसत से कम है। इनमें रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, कुरुक्षेत्र, सोनीपत, रोहतक, करनाल, कैथल, पानीपत, भिवानी,

झज्जर, अंबाला और यमुनानगर है। जनगणना

के अनुसार, 2001 में 1000 लड़कों पर 879 लड़कियां थीं। प्रदेश सरकार की मानें तो 2016 में यह आंकड़ा 901 तक पहुंच गया है, जो एक उपलब्धि है। आने वाले 6 महीनों में हरियाणा सरकार की योजना इस आंकड़े को 950 तक पहुंचाने की है।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो