sulabh swatchh bharat

सोमवार, 20 मई 2019

डॉ. पाठक को ‘लाइफटाइम एचीवमेंट अवार्ड’

पीएचडी चेंबर ने डॉ. पाठक को ‘पीएचडी एनुअल अवार्ड्स फॉर एक्सीलेंस 2018’ से सम्मानित किया

‘देश के व्यापार की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए जो नियम बाधक बन रहे हैं, उसे बंद करने की आवश्यकता है। मैंने पीएचडी चेंबर से भी कहा है कि वे उन नियमों को रेखांकित करे ताकि व्यापार की प्रक्रिया सहज हो सके।’ केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने ये बातें पीएचडी एनुअल अवार्ड्स फॉर एक्सीलेंस 2018’ प्रदान किए जाने के अवसर पर कहीं।
नई दिल्ली के अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में पीएचडी चेंबर द्वारा आयोजित इस सम्मान समारोह में देश के कई विशिष्ट हस्तियों को विभिन्न क्षेत्रों में योगदान देने के लिए पुरस्कार प्रदान किया गया। इससे पूर्व पीएचडी चेंबर के अध्यक्ष अनिल खेतान ने केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु और अतिथियों का स्वागत किया।
इस अवसर पर सुलभ इंटरनेशलन सोशल सर्विस ऑर्गनाइजेशन के संस्थापक डॉ. विन्देश्वर पाठक को ‘लाइफटाइम एचीवमेंट अवार्ड’ से सम्मानित किया गया। डॉ. पाठक के पूर्व हीरो ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. बृजमोहन लाल मुंजाल, ई.आइ.एच. लिमिटेड के कार्यकारी अध्यक्ष पी.आर.एस. ओबराय, डी.एम.आर.सी. के पूर्व प्रबंध निदेशक डॉ. ई. श्रीधरन तथा अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. प्रताप सी. रेड्डी भी ‘लाइफटाइम एचीवमेंट अवार्ड’ से सम्मानित किए जा चुके हैं।
सुलभ प्रणेता डॉ. पाठक पिछले 50 वर्षों से स्वच्छता के साथ-साथ अन्य सामाजिक क्षेत्रों में अपनी सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं और अपने सामाजिक कार्यों हेतु ‘स्टॉकहोम वाटर प्राइज’, ‘23वें निक्की एशिया प्राइज फॉर कल्चर एंड कम्युनिटी’ जैसे 100 से भी अधिक उल्लेखनीय पुरस्कारों से सम्मानित किए जा चुके हैं। देश की दो सबसे बड़ी चुनौतियों, अस्वच्छता एवं अस्पृश्यता की समाप्ति के लिए उन्होंने कई तकनीकों का आविष्कार किया। इन आविष्कारों का ही परिणाम है कि आज ‘सुलभ’ स्वच्छता एवं शौचालय का पर्याय बन चुका है।
‘लाइफटाइम एचीवमेंट अवार्ड’ के अतिरिक्त अन्य पुरस्कार भी प्रदान किए गए। ‘गुड कॉरपोरेट सिटिजन अवार्ड’ से पावरग्रिड को सम्मानित किया गया। गेल एवं डाबर इंडिया लिमिटेड को ‘अवार्ड फॉर आउटस्टैंडिंग कॉन्ट्रीब्यूशन टू सोशल वेलफेयर’ सम्मानित किया गया। वहीं वरुण बेवरेजेस लिमिटेड के अध्यक्ष रविकांत जायपुरा को ‘डिस्टिंग्विश्ड एंटरप्रेन्योरशिप अवार्ड’ तथा ‘लक्ष्यम’ के संस्थापक  राशि आनंद को ‘स्पेशल ज्यूरी अवॉर्ड फॉर सोशल वर्क बाइ ए वुमन से सम्मानित किया गया।
इस सम्मान समारोह के ज्यूरी सदस्य के तौर पर मौजूद थे न्यायमूर्ति तीरथ सिंह ठाकुर, मीरा शंकर, भारतीय राजनयिक, वी.के. मल्होत्रा, पूर्व सचिव, कानून एवं न्याय मंत्रालय तथा एच.के. दुआ राज्य सभा सांसद।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो