sulabh swatchh bharat

मंगलवार, 22 जनवरी 2019

कैशलेस द्वीप

मणिपुर के करंग को देश का पहला कैशलेस द्वीप घोषित किया गया

मणिपुर में करंग को करंग को देश का पहला कैशलेस द्वीप घोषित किया गया है। करंग द्वीप देश के उत्तर-पूर्वी हिस्से में मौजूद ताजे पानी की सबसे बड़ी झील लोकटक के मध्य में स्थित है। मणिपुर के इस  गांव को देश का पहला कैशलेस द्वीप का खिताब केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत दिया गया है। यह घोषणा 9-12 जनवरी के बीच कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए चलाए गए अभियान के बाद की गई है। करंग मणिपुर के विष्णुपुर जिले में है और एक मशहूर पर्यटक स्थल है। कंरग को यह लोकप्रियता लोकटक झील के कारण हासिल हुई है। 2011 की जनगणना के मुताबिक इस द्वीप की आबादी 1859 लोगों की है। विष्णुपुर जिले के कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के मैनेजर प्रशांत अइनेम के मुताबिक इस द्वीप के लोगों ने शपथ ली है कि वे सरकार के कैशलेस ग्राम पंचायत बनाने के सपने को पूरा करने में अपनी तरफ से पूरा योगदान करेंगे। ऐसा इसीलिए क्योंकि इन लोगों को भी लगता है कि कैशलेस हो जाने से बैंकिंग व्यवस्था की जरूरत नहीं रह जाएगी और सभी लोगों की जिंदगी आसान हो जाएगी। आज करंग के ज्यादातर परिवार ई-वैलेट एसबीआई बडी, एसबीआई फ्रीडम, यूबीआई और आधार कार्ड से जुड़े डिजिटल पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल मोबाइल रिचार्ज सहित अन्य भुगतानों के लिए कर रहे हैं। अब तक सीएससी से 400 लाभार्थी, 16 व्यापारी और छह मोटर बोट की सेवा मुहैया कराने वाले रजिस्टर्ड हो चुके हैं। करंग में जरूरत के हिसाब से कार्ड स्वाइप मशीन लगाई गई हैं ताकि यह द्वीप सौ फीसदी कैशलेस हो सके।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो