sulabh swatchh bharat

बुधवार, 25 अप्रैल 2018

झारखंड में नियुक्त होंगे वन रक्षक

रांची। झारखंड में राज्य की वन संपदा और प्राणियों की रक्षा के लिए 2200 वन रक्षकों की नियुक्ति की जाएगी।

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य के वन्य क्षेत्रों में पिछले तीस वर्षों से वन रक्षकों की नियुक्ति नहीं की गयी है जिसके चलते वन्य जीवों की रक्षा और वन संपदा की सुरक्षा बहुत कठिन रही है। इसे देखते हुए ही राज्य सरकार ने वन रक्षकों की बड़े पैमाने पर नियुक्ति का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक माह के भीतर 2200 वन रक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। इसके अलावा उन्होंने राज्य के 11 ग्यारह वन्य प्राणी अभ्यारण्य में से पांच को प्राथमिकता के आधार पर आदर्श अभ्यारण्य में तब्दील करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर जंगली हाथियों से प्रभावित पांच राज्यों की एक समिति गठित कर इस समस्या का निदान करने का अनुरोध करने की बात कही। हाथियों को वन क्षेत्र में सीमित रखने के लिए उन्होंने बांस रोपण का अभियान चलाने की बात कही जिससे जंगली हाथियों को जंगल में ही पर्याप्त भोजन मिल सके। इसके अलावा जंगलों के भीतर जल संरक्षण कर जल स्रोत बनाने के भी मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये जिससे हाथियों को नहाने और पीने के लिए पर्याप्त जल उपलब्ध हो।

 



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो