sulabh swatchh bharat

बुधवार, 19 सितंबर 2018

बदली गांव की तस्वीर

प्रवासी भारतीय डॉक्टर दीपेंद्र सिन्हा भले ही भारत से लाखों किलोमीटर दूर बसे हों, लेकिन उनका दिल हिन्दुस्तान के लिए हरदम धड़कता है। यही कारण है कि अमेरिका में रह रहे दीपेंद्र बिना कोई चंदा या सरकारी मदद जुटाए पैतृक गांव नौबस्ता की तस्वीर बदलने में जुटे हैं। बिजली, पानी और शौचालय जैसी बुनियादी सुविधाओं को अपने पैसे से उपलब्ध कराने की कोशिश कर रहे हैं। दीपेंद्र द्वारा भेजे गए पैसे से अभी तक गांव में 125 बिजली के खंभे, 96 शौचालय, 200 हैंडपंप और 10 नि:शुल्क आवास बनवाए जा चुके हैं। गांव के बेसहारा गरीबों को दीपेंद्र की ओर से बनवाए गए आवास दिए गए हैं। गांव में विकास कार्यों की निगरानी के लिए दीपेंद्र ने 17 लोगों की एक टीम बनाई है।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो