sulabh swatchh bharat

बुधवार, 23 मई 2018

गिद्ध संरक्षण के लिए ‘मरू पक्षी महोत्सव’

बीकानेर। विलुप्त हो रहे गिद्धों के संरक्षण के लिए राजस्थान के बीकानेर में मरू पक्षी महोत्सव का आयोजन किया गया। बीकानेर के जिला कलेक्टर वेदप्रकाश ने कहा कि वन विभाग और जिला प्रशासन विलुप्त हो रहे गिद्धों के संरक्षण के विशेष उपाय कर रहा है।

वेदप्रकाश ने गिद्ध सरंक्षण के लिए बीकानेर में आयोजित प्रथम मरू पक्षी महोत्सव को सम्बोधित करते हुए कहा कि वन विभाग ने करीब पांच हजार छह सौ हेक्टेयर भूमि गिद्धों के संरक्षण के लिए चिन्हित की हुई है। पक्षियों को देखने के लिये बडी संख्या में देशी विदेशी पहुंचे।

वन विभाग के उपवन संरक्षक (डीएफओ) वन्यजीव राम निवास कुमावत ने बताया कि जोहडबीड में विभिन्न प्रजातियों के पांच हजार से अधिक पक्षी पहुंचते है। इन दिनों कजाकिस्तान, अफगानिस्तान से आए हुए दो हजार से अधिक सीनेरियस, हिमार और यूरेशियन ग्रेफोन ने जोहड बीड में अपना डेरा डाल रखा है। इनके अलावा येलो आई पीजन, स्टेपी ईगल, टोनी ईगल, इम्पीरियल ईगल, बगुआ, लैक काइट, शेकर फाल्कन, हिरन, लोमडी, जंगली सुअर, नील गाय, सांप अलगर जैसे जीवन जन्तु विचरण कर रहे है। देशी-विदेशी सैलानियों ने गिद्धों, चीलों और अन्य पक्षियों की अठखेलियों को अपने कैमरों में कैद किया।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो