sulabh swatchh bharat

मंगलवार, 25 जून 2019

रीवा आई थी राज कपूर की बारात

राज कपूर का विवाह तत्कालीन रीवा के आईजी करतार नाथ मल्होत्रा की बेटी कृष्णा मल्होत्रा के साथ संपन्न हुआ था। रीवा शहर को आज भी बॉलीवुड के ग्रेट शौमैन को अपना दामाद बनाने पर फख्र है

राज कपूर के बारे में ये बात कम ही लोग जानते हैं कि वे मध्य प्रदेश के दामाद थे। ग्रेट शोमैन स्वर्गीय राज कपूर की रीवा से भावनात्मक स्मृतियां जुड़ी हुई हैं। राज कपूर का विवाह तत्कालीन रीवा आईजी करतार नाथ मल्होत्रा की बेटी कृष्णा मल्होत्रा के साथ संपन्न हुआ था। रीवा से राज कपूर के रिश्ते की नींव महज 20 साल की उम्र में जुड़ गई थी। रीवा के कलाप्रेमियों को उस दौर के रंगमच से रूबरू कराने के लिए पृथ्वीराज कपूर की नाटक कंपनी इस शहर में पहुंची थी। उनके साथ दोनों बेटे राज कपूर और शम्मी कपूर भी थे। शम्मी उस समय 15 साल के और राज कपूर 20 साल के थे।

रंगमंच से मंडप तक
पृथ्वीराज कपूर की इस रंगमंचीय यात्रा ने कपूर खानदान से रीवा का रिश्ता प्रगाढ़ कर गई। उस वक्त करतार सिंह रीवा के आईजी थे। पृथ्वीराज कपूर उनके अतिथि बन गए। मेहमाननवाजी से शुरू हुआ पहचान का सिलसिला आगे चलकर रिश्ते में बदल गया। करतार नाथ सिंह की बेटी कृष्णा कपूर का राज कपूर से ब्याह तय हुआ। 
भारतीय सिनेजगत के ग्रेट शोमैन राज कपूर की बारात रीवा आई थी। ब्याह सरकारी बंगले में ही हुआ। बाराती रॉयल मेंशन (स्वागत भवन) में रूके थे। इस तरह रीवा का रिश्ता बॉलीवुड के उस महान परिवार से जुड़ गया, जिसकी हर पीढ़ी बड़े परदे पर धूम मचा रही हैं। हाल में जब कृष्णा कपूर का निधन हुआ तो बॉलीवुड के साथ रीवा के लोग भी अपनी बेटी के निधन पर काफी दुखी थे। 

बेटी का नामकरण
बहुत कम लोगों को जानकारी है कि राज कपूर और कृष्णा कपूर ने अपनी बेटी का नाम रीवा से प्रभावित होकर रीमा रखा था। माना जाता है कि इस शहर की स्मृतियों को संजोए रखने के लिए बेटी को यह नाम दिया गया था। कृष्णा मल्होत्रा के भाई ख्याति प्राप्त कलाकार प्रेमनाथ और राजेंद्र नाथ मल्होत्रा थे। इन कलाकारों और रीवा से राज कपूर के साथ ही उनके छोटे भाई शम्मी कपूर का आत्मीय रिश्ता जुड़ गया था। शम्मी कपूर ने तैराकी और घुड़सवारी रीवा में ही सीखी थी।

समृति में ऑडिटोरियम
राज कपूर और कृष्णा जिस बंगले में परिणय सूत्र में बंधे थे, उसे अब ‘कृष्णा-राज कपूर ऑडिटोरियम’ का रूप दे दिया गया है। इस ऑडिटोरियम का उद्घाटन इसी वर्ष जून में कपूर परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में हुआ। राज कपूर स्मृति दिवस पर ऑडिटोरियम के लोकार्पण समारोह में मध्य प्रदेश के उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ल ने कहा, ‘रीवा वालों ने आज साबित कर दिया कि वे रिश्ते बनाते हैं तो रिश्ते निभाते भी हैं। स्वर्गीय राज कपूर का विवाह रीवा में जिस बंगले से हुआ था, वहीं पर कृष्णा-राज कपूर ऑडिटोरियम का भव्य शुभारंभ हो रहा है।’
प्रदेश के उद्योग मंत्री ने कहा कि जिस तरह लता मंगेशकर व किशोर कुमार के नाम पर इंदौर और खंडवा में राष्ट्रीय पुरस्कार देने के लिए समारोह होते हैं, उसी तरह रीवा में अभिनय तथा निर्देशन के क्षेत्र का राज कपूर राष्ट्रीय पुरस्कार दिया जाए और यह समारोह रीवा में आयोजित हो। विंध्य क्षेत्र में फिल्मों की शूटिंग की अपार संभावना है। शुक्ल ने कहा कि ऑडिटोरियम विंध्य की कलाओं, लोक नाट्य को नया आयाम देगा। रीवा की पहचान सफेद शेर के उद्भव स्थल के रूप में थी, लेकिन रीवा राज कपूर की ससुराल भी है। राज कपूर रीवा की ब्रांडिंग में सहायक साबित होंगे।
समारोह के मुख्य अतिथि अभिनेता रणधीर कपूर ने भावपूर्ण उद्बोधन में कहा, ‘रीवा के लोगों ने मेरे माता-पिता के नाम पर ऑडिटोरियम बनाकर हमें सबसे बड़ी सौगात दी है। इसके लिए मेरा पूरा परिवार ही नहीं, पूरा फिल्म उद्योग रीवा और विशेषकर उद्योग मंत्री शुक्ल के आभारी हैं।’ इस समारोह में सुप्रसिद्ध गायक सुरेश वाडेकर ने मधुर गीत प्रस्तुत किए। अभिनेता अन्नू कपूर व अन्य कलाकारों ने भी रंगारंग प्रस्तुतियां दी।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो