sulabh swatchh bharat

शुक्रवार, 22 जून 2018

रोहन सूरी - छोटी उम्र बड़ी सफलता

फोब्र्स के अंडर 30 सुपर अचीवर की लिस्ट में शामिल रोहन ने छोटी उम्र में बड़ी हेल्थ केयर कंपनी की शुरूआत की है

कामयाबी उम्र की मोहताज नहीं होती। जिस उम्र में लोग खेल-कूद और बाकी शौक पूरे करने में वक्त खर्च करते हैं, उस उम्र में किशोर रोहन सूरी ने अपनी कंपनी खड़ी कर कामयाबी की मिसाल कायम की है। 17 वर्षीय रोहन सूरी ने अपने गजब के आत्मविश्वास और हुनर के दम पर हेल्थकेयर कंपनी अवेरिया हेल्थ सोल्यूशन्स खड़ी कर सफलता का नया कीर्तिमान स्थापित किया है। सूरी को हेल्थकेयर सेक्टर में उनके योगदान के फोब्र्स ने साल 2017 के 30 अंडर 30 सुपर अचीवर में शामिल किया है। उन्होंने सिर पर लगने वाली चोट के जांच के विधि विकसित की है। उन्होंने एक ऐसा ऐप बनाया है, जो ब्लू ट्रूथ के जरिए इंफेक्शन्स का पता लगाता है। इस ऐप का नाम है केट्रेस। इस ऐप के जरिए चोट का भी पता लगाया जाता है। पता लगाने के लिए इसमें हेडसेट और मोबाइल का उपयोग किया जाता है। फोब्र्स के अनुसार रोहन के भाई की बीमारी शुरू में पकड़ में नहीं आ सकी, तो उन्होंने मस्तिष्काघात की जांच के लिए इस नए उपकरण को विकसित किया। 2014 में उनके दिमाग में इस ऐप को विकसित करने का आइडिया आया था। फोब्र्स के अनुसार जून 2016 से दिसंबर 2016 तक सूरी ने अपने उपकरण से करीब 60 मरीजों का टेस्ट किया है।  रोहन के अनुसार उन्हें टेक्नोलॉजी से बेहद प्यार है और नए ऐप बनाने या रिसर्च करने के लिए वो किसी बड़े लैब की अपेक्षा एक कंप्यूटर, स्मार्टफोन का ही उपयोग करते हैं।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो