sulabh swatchh bharat

मंगलवार, 25 जून 2019

धरती से दूर जा रहा है चांद

एक अध्ययन का दावा है कि चंद्रमा के धरती से दूर जाने की वजह से दिन लंबे होते जा रहे हैं

चंद्रमा के पृथ्वी से दूर जाने के कारण हमारे ग्रह पर दिन लंबे होते जा रहे हैं। एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि 1.4 अरब साल पहले धरती पर एक दिन महज 18 घंटे का होता था। पत्रिका प्रोसिडिंग्स ऑफ द नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज में प्रकाशित यह अध्ययन चंद्रमा से हमारे ग्रह के रिश्ते के गहरे इतिहास को पुन: स्थापित करता है।
इसमें पाया गया कि 1.4 अरब साल पहले चंद्रमा पृथ्वी के ज्यादा करीब था और उसने पृथ्वी के अपनी धुरी के चारों ओर घूमने के तरीके को बदला। अमेरिका में विस्कॉन्सिन - मैडिसन विश्वविद्यालय के प्रफेसर स्टीफन मेयर्स ने कहा कि जैसे-जैसे चंद्रमा दूर जा रहा है तो धरती एक स्पिनिंग फिगर स्केटर की तरह व्यवहार कर रही है जो अपनी बाहें फैलाने के दौरान अपनी गति कम कर लेता है। 
ब्रह्मांड में पृथ्वी की गति अन्य ग्रहों से प्रभावित होती है जो उस पर बल डालते हैं जैसे कि अन्य ग्रह और चंद्रमा। वैज्ञानिकों ने लाखों साल की अवधि में पृथ्वी की इस गति का अवलोकन किया और इससे वह पृथ्वी तथा चंद्रमा के बीच की दूरी और दिन के घंटों का पता लगा पाए।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो