sulabh swatchh bharat

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019

सुलभ के प्रयासों से धंदुका गांव बना खुले में शौच से मुक्त

हरियाण का एक पिछड़ा गांव धंदुका सुलभ प्रणेता डॉ. विन्देश्वर पाठक की प्रेरणा और सुलभ प्रयासों से खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया

प्रधानमंत्री मोदी ने साल 2014 में 'स्वच्छ भारत अभियान' की शुरुआत की ओर पूरे भारत को खुले में शौच से मुक्त करने का अभियान चलाया। शहरी विकास और ग्रामीण मंत्रालय की योजनाओं से देश के राज्यों में जिले और गांवों में खुले में शौच से मुक्ति के प्रयास शुरू हो गए। स्वच्छता और सामाजिक सुधार संस्था सुलभ इंटरनेशनल ने पीएम मोदी के इस अभियान को सफल बनाने के लिए पूरे देश में बढ़-चढ़कर काम किया। परिणामस्वरूप देश के सभी राज्यों के अधिकतर गांव खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं और बचे हुए गांव खुले में शौच से मुक्ति की ओर अग्रसर हैं। 
ऐसे ही एक सुलभ प्रयास के तहत भारत में सर्बिया के राजदूत माननीय व्लादिमीर मैरिक और सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक डॉ. विन्देश्वर पाठक ने 28 नवंबर को हरियाणा के मेवात जिले की नूह तहसील स्थित एक गांव धंदुका का दौरा कर गांव को खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) घोषित किया। यह बड़ी कामयाबी सुलभ स्वच्छता मिशन फाउंडेशन और भारत में सर्बिया के राजदूत व्लादिमीर मैरिक और ग्वाटेमाला, चिली, बोस्निया और हर्जेगोविना के माननीयों के संयुक्त प्रयासों से मिली।
सर्बिया, ग्वाटेमाला, चिली और बोस्निया और हर्जेगोविना के दूतावासों और सुलभ स्वच्छता मिशन फाउंडेशन के संयुक्त प्रयासों द्वारा 16 और 17 अप्रैल, 2018 को ‘टेनिस 4 टॉयलेट्स’ नाम से एक युगल चैरिटी टेनिस टूर्नामेंट का आयोजन किया गया। लोजिस्टिक्स प्रायोजकों समेत कुल 14 प्रायोजक भी इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए आगे आए। इस टूर्नामेंट का उद्देश्य पूरे भारतीय गांव को खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए पर्याप्त धन जुटाना था।
इस टूर्नामेंट द्वारा अर्जित किए गए धन का इस्तेमाल धंदुका गांव में 105 व्यक्तिगत घरेलू शौचालयों के निर्माण के साथ पूरे गांव को ‘ओपन डे​िफकेशन फ्री (ओडीएफ)’ अर्थात खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिए किया गया। सर्बियाई राजदूत व्लादिमीर मैरिक ने नेतृत्व करते हुए अपने टेनिस साथियों बोस्निया के राजदूत माननीय सबित सुबासिक, ग्वाटेमाला के राजदूत जॉर्जेस डे ला रोचे डु रोन्जेट और चिली के मिशन हेड माननीय एड्रेस बार्बी गोंजालेज के साथ मैच खेला।
सभी माननीयों ने इस भारतीय गांव में इकोलॉजिकल शौचालयों के निर्माण के लिए चैरिटी टेनिस मैच आयोजित करके धन जुटाने का विचार साझा​ िकया। उसके बाद ‘टेनिस 4 टॉयलेट्स’ नाम से मैच का आयोजन हुआ। इस कार्यक्रम ने टेनिस को भारत में एक बड़े खेल के रूप में भी बढ़ावा दिया। इस ऐतिहासिक तरक्की को रेखांकित करते हुए गांव में एक फाउंडेशन स्टोन भी लगाया गया। स्कूल के बच्चों ने  प्रेरक नारों के प्लेकार्ड लेकर व्यक्तिगत स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए स्वच्छता के महत्व के बारे में जागरूकता भी फैलाई।



Bringing smiles to every face hindi ad copy %281%29

ऑडियो